अम्ल किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार, उपयोग, उदाहरण What is Acid in Hindi

नमस्कार आज हम रसायन विज्ञान के महत्वपूर्ण अध्याय में से एक अम्ल(Acid) के बारे में अध्ययन करेंगे। इस अध्ययन के दौरान हम इन से सम्बंधित विभिन्न बिन्दुओ पर गौर करेंगे जैसे की अम्ल किसे कहते हैं? अम्ल के नाम, अम्ल के उदाहरण, अम्ल के प्रकार, अम्ल की परिभाषा इत्यादि। तो आइयें जानते है की अम्ल किसे कहते हैं?

सभी यौगिकों को उनके रासायनिक गुणों के आधार पर अम्ल, क्षारक और लवण में वर्गीकृत किया जा सकता है। इनमें कुछ विशिष्ट गुण होते हैं जो एक यौगिक को दूसरे से अलग करते हैं।

अम्ल किसे कहते हैं?

एसिड शब्द की उत्पत्ति लैटिन शब्द ‘एसिडस’ (acidus) से हुई है, जिसका अर्थ है ‘खट्टा’। अत: अम्ल वे पदार्थ  हैं जिनका स्वाद खट्‌टा होता है। अम्ल या क्षारक की उपस्थिति के कारण भोजन का स्वाद कड़वा या खट्‌टा होता है।

अम्ल के उदाहरण :- HCl, HNO3 तथा H2SO4 आदि अम्ल हैं।

अम्ल की परिभाषा

उन पदार्थों को कहते हैं जो पानी में घुलने पर खट्टे स्वाद के होते हैं (अम्ल = खट्टा), हल्दी से बनी रोली (कुंकम) को पीला कर देते हैं,तथा इनका जलीय विलयन नीले लिटमस पेपर को लाल करता है। 

अम्लों के प्रकार (Types of Acids)

A. अकार्बनिक अम्ल या खनिज अम्ल (Inorganic or Mineral Acids)

अकार्बनिक अम्लों को खनिजों से प्राप्त किया जाता है। उदाहरण हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl), नाइट्रिक अम्ल (HNO3), सल्फ्यूरिक अम्ल (H2 SO4) आदि।

1. कार्बनिक अम्ल (Organic Acids):–

– ये पौधों व जन्तुओं से प्राप्त किए जाते हैं। ये दुर्बल अम्ल हैं। उदाहरण ऑक्सेलिक अम्ल, लैक्टिक अम्ल, यूरिक अम्ल, ऐसीटिक अम्ल आदि।

2. हाइड्रा अम्ल (Hydra Acids):–

– जिन अम्लों में केवल हाइड्रोजन पाया जाता है, उन्हें हाइड्रा अम्ल कहते हैं। उदाहरण हाइड्रोफ्लोरिकल अम्ल (HF), हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl), हाइड्रोसायनिक अम्ल (HCN) आदि।

3. ऑक्सी अम्ल (Oxy Acids):–

– जिन अम्लों में हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन दोनों पाए जाते हैं, उन्हें ऑक्सी अम्ल कहते हैं। उदाहरण सल्फ्यूरिक अम्ल (H2 SO4), फॉस्फोरिक अम्ल (H3 PO4) आदि।

4. प्रबल अम्ल (Strong Acids):–

– ये अपने जलीय विलयन में पूर्णतया आयनित हो जाते हैं। उदाहरण हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl), नाइट्रिक अम्ल (HNO3), सल्फ्यूरिक अम्ल (H2SO4) आदि।

5. दुर्बल अम्ल (Weak Acids):–

– ये अपने जलीय विलयन में  आंशिक रूप से आयनित होते हैं। अत: इनके जलीय विलयन में आयन तथा अणु दोनों उपस्थित होते  हैं। उदाहरण – ऐसीटिक अम्ल (CH3COOH), फॉस्फोरिक अम्ल (H3PO4), कार्बोनिक अम्ल (H2CO3) आदि।

6. तनु अम्ल (Dilute Acids):–

– इनके जलीय विलयन में अम्ल की सान्द्रता (मात्रा) अपेक्षाकृत कम होती है।

7. सान्द्र अम्ल (Concentrated Acids):–

– इनके जलीय विलयन में अम्ल की सान्द्रता (मात्रा) अपेक्षाकृत अधिक होती है।

अम्लों के गुण (Properties of Acids)

(i)  अम्ल धातु से अभिक्रिया कर हाइड्रोजन गैस देते हैं।

अम्ल + धातु → लवण + हाइड्रोजन गैस

(ii) अम्ल सभी धातु कार्बोनेट तथा धातु

हाइड्रोजन कार्बोनेट के साथ अभिक्रिया करके संगत लवण, कार्बन डाईऑक्साइड एवं जल बनाते हैं।

धातु कार्बोनेट/धातु हाइड्रोजन कार्बोनेट + अम्ल → लवण + कार्बन डाईऑक्साइड + जल

(iii) अम्ल और क्षारक की परस्पर अभिक्रिया के परिणामस्वरूप लवण तथा जल प्राप्त होते हैं। इसे उदासीनीकरण  अभिक्रिया (neutralisation reaction) कहते हैं।

अम्ल + क्षारक → लवण + जल

HCl(aq) + NaOH(aq) → NaCl(aq) + H2O

(iv) अम्ल, धात्विक ऑक्साइडों के साथ अभिक्रिया करके लवण तथा जल प्रदान करते हैं।

धातु ऑक्साइड + अम्ल→ लवण + जल

क्षारक और अम्ल की अभिक्रिया के समान धात्विक ऑक्साइड अम्लों  से अभिक्रिया करके लवण और जल देते हैं। अतः धात्विक ऑक्साइड को क्षारकीय ऑक्साइड भी कहते हैं।

(v) अम्ल जल में घोले जाने पर H+ (aq) (हाइड्रोजन आयन) या H3O+ (aq) (हाइड्रोनियम आयन)  देते हैं।

उदाहरण HCl + H2O ” H3O+ (aq) + Cl (aq) विलयन में H+ (aq) आयनों के कारण ही पदार्थ की प्रकृति अम्लीय होती है। जल की अनुपस्थिति में अम्ल के अणुओं में से H+ आयानों को पृथक् करना सम्भव नहीं है अर्थात् H+ आयन अकेले प्राप्त नहीं हो सकते हैं, ये जल के अणुओं से संयुक्त होने के पश्चात् ही मिलते हैं।

H+ + H2O” H3O+

– कार्बोक्सिलिक अम्ल, ऐल्कोहॉल से अभिक्रिया करके मीठी गन्धयुक्त यौगिक एस्टर बनाते हैं। यह अभिक्रिया एस्टरीकरण (Estrification) कहलाती है।

कार्बोक्सिलिक अम्ल + ऐल्कोहॉल → एस्टर + जल

अम्ल के नाम तथा इनके स्रोत

अम्लस्रोत
बेन्जोइक अम्लघास पत्तियाँ तथा मूत्र
ग्लूटेमिक अम्ल तथा टार्टरिक अम्लइमली, अंगूर, कच्चा आम
ऑक्सेलिक अम्लटमाटर, पालक
सिट्रिक अम्लसन्तरा, नीबू
फॉर्मिक अम्ललाल चींटी, नेटल
ऐसीटिक अम्लसिरका
मैलिक अम्लचाय
लैक्टिक अम्लदही, खट्‌टा दूध
एस्कॉर्बिक अम्ल(विटामिन C)आँवला

अम्लों के उपयोग (Uses of Acids)

अम्ल के नाम,
अम्ल के उदाहरण,
अम्ल के प्रकार,
अम्ल की परिभाषा,
10 अम्ल के नाम,
अम्ल और क्षार की परिभाषा,
अम्ल क्षार के उदाहरण,
5 अम्ल के नाम,
amal kise kahate hain,
कार्बोलिक अम्ल किसे कहते हैं,
तनु अम्ल किसे कहते हैं,
दुर्बल अम्ल किसे कहते हैं,
प्रबल अम्ल किसे कहते हैं,
अम्ल वर्षा किसे कहते हैं,
अम्ल के उपयोग,
अम्ल और क्षार में अंतर,
प्रबल अम्ल के उदाहरण सूत्र,
अम्ल क्षार एवं लवण नोट्स pdf,
अम्ल के उदाहरण,

अम्ल से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

अम्ल किसे कहते हैं यह कितने प्रकार के होते हैं?

उन पदार्थों को कहते हैं जो पानी में घुलने पर खट्टे स्वाद के होते हैं (अम्ल = खट्टा), हल्दी से बनी रोली (कुंकम) को पीला कर देते हैं,तथा इनका जलीय विलयन नीले लिटमस पेपर को लाल करता है। 

अम्ल की क्या पहचान है?

अम्ल स्वाद में खट्टे होते हैं

अम्ल के दो उदाहरण क्या है?

एसिटिक अम्ल

चींटी के डंक में कौन सा अम्ल पाया जाता है?

फार्मिक अम्ल

इमली में कौन सा अम्ल पाया जाता है?

टार्टरिक अम्ल

नींबू में कौन सा अम्ल पाया जाता है?

सिट्रिक अम्ल (Citric acid)

सेब में कौन सा अम्ल पाया जाता है?

मेलिक एसिड

अन्य अध्ययन सामग्री

अम्लीय वर्षा किसे कहते हैं?

पीएच (PH) क्या होता हैं? परिभाषा, चित्र, सारणी,फुल फॉर्म What is pH in Hindi

निष्कर्ष

यदि आपको यह अध्ययन सामग्री पसंद आई है तो अपने मित्र अथवा सहपाठियों के साथ जरूर शेयर करे। और भी अन्य प्रकार की अध्ययन सामग्री जो विभिन्न भर्ती परीक्षाओ मे आपके तैयारी को और भी आसानी बना सकती है, उसे आप यहाँ से प्राप्त कर सकते है । इसलिए आपसे निवेदन है की अम्ल किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार, उपयोग, उदाहरण What is Acid in Hindi के अलग अलग प्रश्न जैसे अन्य पाठ्य सामग्री के प्राप्त करने के लिए, हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ।

RpscGuide पर पढ़ें देश और दुनिया की ताजा ख़बरें, गेम्स न्यूज टेक बाइक कार न्यूज वेब सीरीज व्यापार, बॉलीवुड और एजुकेशन न्यूज पब्लिश करता है।

Leave a Comment