कंप्यूटर की विशेषता क्या है Characteristics of Computer in Hindi

0

कंप्यूटर की विशेषता / अभिलक्षण (Characteristics of a Computer in Hindi):- कंप्यूटर के द्वारा बहुत ही ऐसे जटिल कार्य (Task) सम्पन्न करवाये जा सकते हैं जो मानव द्वारा दक्षता के साथ नहीं किए जा सकते हैं।
कंप्यूटर के निम्न मुख्य अभिलक्षण/ विशेषताएँ इसको बहुत ही क्षमतावान व शक्तिशाली बनाते हैं
Computer दिये गये निर्देशों के समूह (प्रोग्राम) के नियंत्रण में रहकर कार्य करता है व डाय पर क्रिया कर परिणाम देता है।
तो आइये जानते है computer Ki Visheshta के बारे में :-

कंप्यूटर की विशेषता Characteristics of a Computer in Hindi

इस खंड computer Ki Visheshta के बारे में सम्पूर्ण रूप से बताया गया है जिसकी सहयता से आप
कंप्यूटर की विशेषता अभिलक्षण इत्यादि के बारे में जान पाएंगे।

स्वचालन (Automation) :-

कंप्यूटर की मुख्य विशेषता(Characteristics of a Computer in Hindi) में से एक है यह, Computer समस्त गणना कार्य एवं डाटा प्रोसेसिंग कार्य स्वयं ऑटोमैटिक रूप से करता है। इसमें व्यक्ति द्वारा
एक बार डाटा प्रविष्ट करके निर्देश देने के बाद यह शेष समस्त कार्य स्वतः ही करता है।
अत: कंप्यूटर द्वारा कार्य संपन्न करने में व्यक्तियों की आवश्यकता न्यूनतम रहती है।
यह, इसके प्रयोगकर्ता (operator) द्वारा संग्रहित प्रोग्राम या निर्देशों के अनुसार प्रक्रियांकन कर निर्देशों के अनुरूप ही परिणाम या आउटपुट प्रदान करता है।
अतः यह प्रक्रिया के दौरान प्रयोगकर्ता के नियंत्रण के बिना स्वतः क्रियाशील रहता है और हमारे इच्छित परिणाम प्रदान करता है। अतः कंप्यूटर में स्वचालन का गुण होता है।

गति (Speed) :-

कंप्यूटर्स का सबसे प्रथम, सबसे महत्त्वपूर्ण व सबसे बड़ा गुण गणना करने की उसकी तीव्र गति ही है। कंप्यूटर्स बिना त्रुटि किए आश्चर्यजनक उच्च गति (Speed) से कार्य सम्पादित करते हैं।
जो कार्य सामान्य व्यक्ति द्वारा कई घण्टों में पूर्ण किया जाता है वही कार्य कंप्यूटर द्वारा एक सेकण्ड
के भी अतिसूक्ष्म भाग में सम्पन्न हो जाता है।
कंप्यूटर्स की गति को मिली सेकण्ड (10-3 सेकण्ड), माइक्रोसेकण्ड (10 सेकण्ड) व नेनो सेकण्ड (10 सेकण्ड) के
पदों में मापा जाता है।
एक शक्तिशाली कंप्यूटर बिलियन गणनाएँ सैकण्डों में पूर्ण कर लेते हैं।
इसके अलावा कंप्यूटर रात-दिन काम करते रहने के बावजूद थकता नहीं है। इसे आराम की आवश्यकता नहीं रहती।

परिशुद्धता (Accuracy ):-

कंप्यूटर अपने कार्य को अत्यधिक परिशुद्धता के साथ व बिना त्रुटि के पूर्ण करता है। यह समको या आंकड़ों (डेटा) को प्रक्रिया में गुजारने (Processing) में कोई त्रुटि नहीं करता है। यह केवल गलत निवेश (Input) करने पर या गलत निर्देश देने पर ही त्रुटिपूर्ण सूचनाएँ या परिणाम प्रेषित करता है।

विश्वसनीयता (Reliability) :-

कंप्यूटर की स्मरणशक्ति व शुद्धता अत्यधिक उच्च स्तर की होती है, जिस कारण कंप्यूटर में या
इससे जुड़ी सभी प्रक्रियाएँ विश्वसनीय होती हैं।
कंप्यूटर में सुरक्षित आँकड़े एवं सूचनाएँ हम किसी भी अवधि के बाद पुनः उससे प्राप्त कर सकते हैं।
इस प्रकार कंप्यूटर्स, मानव से भी अधिक विश्वसनीय है क्योंकि ये मानव की तरह बार-बार दोहराने (Repetitive task) से कभी बोर होकर थकते नहीं हैं।

उच्च भण्डारण क्षमता (High Storage Capacity):-

कंप्यूटर की विशेषता में से एक इसकी बड़ी मात्रा में समंकों (data) का भण्डारण कर सकता है।
यह बहुत सारे दस्तावेजों (documents), लेखों (artickes), चित्रों (Pictures), फिल्मों (Films), गानों (Songs), प्रोग्रामों (Programmes) आदि का लंबे समय तक अपनी स्मृति में भण्डारण कर सकता है
जो आवश्यकता पड़ने पर कभी भी उपयोग में लिए जा सकते हैं।
दूसरी ओर मानव अपनी स्मृति में कुछ ही सूचनाओं को संकलित कर (संजोकर) रख पाता है
अधिकतर सूचनाओं को भूल जाता है।

इसके अलावा सूचनाओं व आँकड़ों के संग्रहण हेतु कंप्यूटर के साथ बाह्य संग्रहण डिवाइसेज होते हैं जिनमें हम कितने ही आँकड़े संग्रहित कर सकते हैं।

बहुआयामी या सार्वभौमिक उपयोगिता (Versatile):-

कंप्यूटर कई प्रकार के कार्य सम्पन्न कर सकता है। एक साथ भी इससे कई कार्य किए जा सकते हैं।
इस पर किसी टेक्स्ट (text) की टाइपिंग के दौरान या इस पर गेम खेलने के दौरान गाने सुने जा सकते हैं।

किसी पेकेज पर कार्य के दौरान, गणना करना, चित्र बनाना, ग्राफ बनाना, नेट को सर्फ करना, ई-मेल करना आदि कार्य सम्पन्न किए जा सकते हैं।

इस प्रकार कंप्यूटर अब मानव जीवन के अधिकांश कार्यों में व्यापक रूप से प्रयुक्त किया जाने लगा है।
अब इसका प्रयोग शिक्षा, चिकित्सा, उद्योग, वैज्ञानिक, खगोलशास्त्र, अंतरिक्ष अनुसंधान, बैंकिंग एवं वित्त, यातायात, खेलकूद, ज्योतिष, साहित्य एवं प्रकाशन आदि सभी क्षेत्रों में किया जाने लगा है।

मानव शक्ति की आवश्यकता में कमी (Reduction in Manpower):-

पहले औद्योगिक इकाइयों और कारखानों में कार्य के लिए बड़ी संख्या में व्यक्तियों की आवश्यकता होती थी।
कंप्यूटर के उपयोग में लाने के बाद इन संस्थानों में त्रुटि के व अधिक परिशुद्धता
के साथ केवल कुछ ही व्यक्तियों की मदद से पूर्ण कर लिया जाता है।

वही कार्य, बिना कंप्यूटर के आविष्कार व उपयोग ने मानव शक्ति की आवश्यकता को कम कर दिया है।

कागजी कार्य में कमी (Reduction in Paper Work):-

कंप्यूटर के उपयोग ने संस्थानों में कागजी कार्य को काफी कम कर दिया है।
हाल ही में भारतीय रेल की ई-टिकिट बुकिंग में टिकिट का प्रिन्ट आउट (हार्ड कॉपी) लेकर यात्रा करने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।
जिससे A4 साइज के लगभग 3 लाख कागजों की दैनिक बचत हो सकेगी।
कार्यालयों में भी कंप्यूटर के उपयोग से कागजी-कार्य में अत्यधिक कमी आई हैं।
बैंको में कागजी कार्य को काफी हद तक कम कर दिया गया है।

स्मृति में स्थित डाटा तीव्रता से खोजकर प्रस्तुत करने की क्षमता (Power of Recall):-

एक व्यक्ति अपने जीवन में असंख्य गतिविधियाँ सम्पन्न करता है और वह केवल महत्त्वपूर्ण बातों और गतिविधियों
को ही ध्यान में रखता है। लेकिन कंप्यूटर इसकी स्मृति में स्थित सभी बातें, चाहे वह महत्त्वपूर्ण हों या न हों,
आवश्यकता पड़ने पर समान रूप से प्रयुक्तकर्ता को उपलब्ध कराता है
तथा यह सूचना बहुत वर्षों के बाद भी उतनी ही शुद्ध रहती है जितनी कि यह संगृहीत करते समय थी। Computer Ki Visheshta

संक्षमता (Dilligence):-

एक जड़ मशीन होने के कारण कंप्यूटर पर बाहरी वातावरण का कोई प्रभाव नहीं पड़ता।
वह किसी भी कार्य को बिना रुके लाखों-करोड़ों बार करता रह सकता है।
मानव तथा अन्य प्राणियों की तरह उसे थकान, भूख, प्यास, ऊब आदि का अनुभव नहीं होता और समय, स्थान, मौसम आदि का उसके ऊपर कोई प्रभाव नहीं होता।
अपनी पूरी क्षमता से कार्य करते रहने के लिए उसे केवल धूलरहित वातावरण
और उचित तापमान की ही आवश्यकता होती है।
इस गुण के कारण कंप्यूटर प्रायः हर स्थिति में कार्य करने में सक्षम होता है।

कंप्यूटर की उपरोक्त सभी मुख्य विशेषताओं (Characteristics of a Computer in Hindi) ने इसे आज की समस्त कार्यप्रणाली का अत्यावश्यक व अभिन्न अंग बना दिया है। शिक्षण-अधिगम कार्य के क्षेत्र में भी कंप्यूटर का उपयोग इसे अधिक संगठित, रुचिकर व सहज बनाता है।


Computer Ki Visheshta से सम्बंधित अन्य लेख

✔️⚫ कंप्यूटर क्या है? परिभाषा, प्रकार, उपयोग, What is Computer In Hindi (Kya Hain)

✔️⚫ कंप्यूटर की पीढ़ियां | Generation of Computer in Hindi (Pidiya)

✔️⚫ कंप्यूटर के प्रकार क्या है? Types Of Computer in Hindi (Classification) Prakar

✔️⚫ सॉफ्टवेयर क्या है? होता है? प्रकार, What is Software In Hindi – Kya Hai


Characteristics of a Computer in Hindi FaQ

क्या एक कंप्यूटर के पांच मुख्य विशेषताएं हैं?

स्वचालन (Automation), गति (Speed), परिशुद्धता (Accuracy ), विश्वसनीयता (Reliability), उच्च भण्डारण क्षमता (High Storage Capacity)

कम्प्यूटर का क्या महत्व है?

Computer के द्वारा बहुत ही ऐसे जटिल कार्य (Task) सम्पन्न करवाये जा सकते हैं जो मानव द्वारा दक्षता के साथ नहीं किए जा सकते हैं।

कंप्यूटर की गति कितनी होती है?

कंप्यूटर्स की गति को मिली सेकण्ड (10-3 सेकण्ड), माइक्रोसेकण्ड (10 सेकण्ड) व नेनो सेकण्ड (10 सेकण्ड) के
पदों में मापा जाता है।

कंप्यूटर की मुख्य विशेषताएं क्या है?

स्वचालन (Automation), गति (Speed), परिशुद्धता (Accuracy ), विश्वसनीयता (Reliability), उच्च भण्डारण क्षमता (High Storage Capacity)