भारत का भूगोल एवं भारत की स्थिति एवं विस्तार

नमस्कार आज हम भारत के भूगोल के महत्वपूर्ण अध्याय में से एक “भारत का भूगोल एवं भारत की स्थिति एवं विस्तार” के बारे में अध्ययन करेंगे।

भारत का नामकरण (Naming of India)

•   भारतवर्ष के नामकरण के विषय में ऐसा कहा जाता है कि दुष्यंत के पुत्र भरत के नाम पर इस देश का नाम भारत पड़ा।
   ‘भारत’– यह नाम आर्योँ के द्वारा दिया गया क्योंकि सबसे पहले मध्य एशिया से आकर आर्यों की एक शाखा ने भरत के नेतृत्व में अपना प्रभुत्व स्थापित किया था और इसी शाखा के नाम पर इस देश का नाम भारत वर्ष या भारत पड़ा।

भारत की स्थिति एवं विस्तार, भारत का भूगोल

   हिन्दुस्तान यह नाम ईरानियों के द्वारा दिया गया, क्योंकि प्राचीन भारत और फारस (ईरान) दोनों देशों के बीच हिन्दूकुश पर्वतमाला सीमा विभाजन का कार्य करती थी अर्थात् हिन्दूकुश पर्वतमाला से प्राचीन भारत (वर्तमान में पाकिस्तान) की सीमा प्रारम्भ होती थी इसलिए इस देश को हिन्दुस्तान कहा जाता है।

   इण्डिया (India)  यह नाम यूनानियों के द्वारा दिया गया। क्योंकि यूनानी (ग्रीक) सिन्धु नदी को Indus कहते थे और जिस देश में Indus नदी बहती थी इसलिए उस देश को India कहा।

•   भारतीय संस्कृति के प्राचीन ग्रंथ विष्णु पुराण के अनुसार अर्थात् उत्तर में हिमालय से लेकर दक्षिण में सेतु बंध (वर्तमान में हिन्द महासागर) तक फैला हुआ जो भू-भाग है, उसे भारत या भारतवर्ष कहते है।

   भारतीय संविधान में अनुच्छेद-1 भारत के लिए “India is union of state that is Bharat” नाम प्रयुक्त हुआ है।

image 66

   भारत के उत्तर– पूर्व में हिमालय, दक्षिण पूर्व में बंगाल की खाड़ी, दक्षिण पश्चिम में अरब सागर, दक्षिण में मन्नार की खाड़ी है। हिन्द महासागर को रत्नाकार कहा जाता था। भारत के भौगोलिक विस्तार में पाकिस्तान, नेपाल, भूटान, म्यांमार, बांग्लादेश जैसे प्रभुत्व सम्पन्न देश होने के कारण इसे भारतीय उपमहाद्वीप कहा जाता है।

भारत की आकृति (Shape of India)

   भारत की आकृति पूर्णतः त्रिभुजाकार न होकर चतुष्कोणीय है।

   भूगोलवेता स्ट्रेबो ने भारत की आकृति पतंग के समान बताई है।

भारत का विस्तार  (Extention of India)

•   भारत का कुल क्षेत्रफल 32,87,263 किमी. तथा 1269219.34 वर्ग मील है जो विश्व के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का लगभग 2.42% है।
   भारत की उत्तर से दक्षिण की लंबाई 3214 किमी.  तथा पूर्व से पश्चिम की लंबाई 2933 किमी. है। दोनों के बीच का अन्तर 281 किमी. है।

मानक मील       :  63,360 इंच        समुद्री मील       : 72,960 इंच1 मानक मील    : लम्बाई 1.6 किमी. (1,584 किमी.)1 समुद्री मील    : लगभग 1.8 किमी. (1,824 किमी.)

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत विश्व का सातवाँ बड़ा देश है। क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व के बड़े देश क्रमश: है
– 1. रूस 2. कनाडा 3. चीन 4. संयुक्त राज्य अमेरिका 5. ब्राजील 6. ऑस्ट्रेलिया 7. भारत 8. अर्जेंटीना।

भारत की स्थिति 

अक्षांशों के आधार पर (Location of India on the basis of latitudes)

•   भारत का अक्षांशीय विस्तार 8°4’ उत्तरी अक्षांश से 37°6’  उत्तरी अक्षांश के मध्य स्थित है।
   भारत का दक्षिणतम बिन्दु 6°45’उत्तरी अक्षांश है तथा यह इंदिरा पॉइंट (पर्सियन पॉइंट/पिग्मेलियन पॉइंट/ ला हि चांग) अण्डमान निकोबार में स्थित है।
   भारत का उत्तरी बिन्दु इंदिरा कॉल (Indira col) गिलगित, जम्मू कश्मीर में स्थित है।
   भारत का मुख्य भूमि का दक्षिणतम बिन्दु कन्याकुमारी/केप केमोरिन, तमिलनाडु में स्थित है।
   अक्षांशीय दृष्टि से भारत उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है।
   कर्क रेखा का दक्षिणी भाग उष्ण कटिबन्ध में तथा उत्तरी भाग उपोष्ण /शीतोष्ण कटिबन्ध में स्थित है।

भारत की स्थिति देशांतरों के आधार पर
(Location of India on the basis of longitudes)

•   भारत का देशांतरीय विस्तार 68°7’ पूर्वी देशांतर से 97°25’  पूर्वी देशांतर के मध्य स्थित है।

   भारत का पूर्वी बिन्दु किबिथू वालांगु (त्वांग) अरुणाचल प्रदेश में स्थित है।

   भारत का पश्चिमी बिन्दु गोहरमाता (गौर माता) कच्छ गुजरात में स्थित है।

मानक समय निर्धारक रेखा: (Standard Time Assessment Line)

•   भारत की मानक समय निर्धारक रेखा 82°30’ (821°2) पूर्वी  देशान्तर रेखा को कहा जाता है।
   82°30’ पूर्वी देशान्तर रेखा भारत के नैनी कस्बा (मिर्जापुर), प्रयागराज उत्तर प्रदेश में से गुजरती है।
   82°30’ पूर्वी देशांतर रेखा पाँच राज्यों उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा एवं आंध्र प्रदेश राज्यों से गुजरती हैं।

भारत का मानक समय 82°30’ ही क्यो?
विश्व के देशों में अपनी समझ के तहत मानक याम्योत्तर को 7°30’  देशांतर के गुणांक पर चुना जाता है। यही कारण है कि 82°30’ पूर्व याम्योत्तर को भारत की मानक याम्योत्तर चुना गया है। भारतीय मानक समय ग्रीनविच माध्य समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे है।कुछ देश ऐसे है जिनमें पूर्व-पश्चिम का विस्तार अधिक होने के कारण एक से अधिक मानक देशांतर रेखाएँ हैं। उदाहरणत: संयुक्त राज्य अमेरिका में छह समय कटिबंध है।

   कर्क रेखा (उत्तरी अक्षांश) भारत के बीचोंबीच में 8 राज्यों में से होकर गुजरती है।

     ये आठ राज्य है  1. गुजरात 2. राजस्थान 3. मध्यप्रदेश 4. छत्तीसगढ़ 5. झारखंड 6. पश्चिम बंगाल 7. त्रिपुरा 8. मिजोरम।

   कर्क रेखा की सबसे अधिक लंबाई  मध्यप्रदेश

   कर्क रेखा की सबसे कम लंबाई  राजस्थान

   कर्क रेखा के नजदीकी शहर  गांधीनगर, उज्जैन, रांची, भोपाल, अगरतला ।

भारत की सीमाएँ (India’s borders)

•    स्थलीय सीमा (Land borders)  भारत की स्थलीय सीमा  की लम्बाई 15,200 किमी. है।

•   तटीय सीमा (Coastline borders)  मुख्य भूमि की तटीय सीमा की लम्बाई 6,100 किमी. है। यदि अंडमाननिकोबार तथा लक्षद्वीप समूहों की तट रेखा को भी सम्मिलित किया जाए तो भारत की तटीय सीमा 7516.6 किमी. है।

   भारत की कुल (स्थलीय+जलीय) सीमा की लंबाई 22716.6 किमी. है।

   अण्डमाननिकोबार द्वीप समूह का तट सबसे लंबा 1962 किमी. है, जिसके बाद गुजरात 1600 किमी. व आंध्रप्रदेश 970 किमी. है।

   सर्वाधिक तटीय सीमा वाले राज्य – गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु।

   न्यूनतम तटीय सीमा वाले राज्य – गोवा, कर्नाटक।

image 67

   भारत के 16 राज्य तथा केन्द्र शासित प्रदेश अंतर्राष्ट्रीय सीमा तथा 9 राज्य समुद्रीय सीमा बनाते हैं।

राज्यसमुद्री सीमा
गुजरातपश्चिमी तट
महाराष्ट्रपश्चिमी तट
गोवापश्चिमी तट
कर्नाटकपश्चिमी तट
केरलपश्चिमी तट
तमिलनाडुपूर्वी तट
आंध्र प्रदेशपूर्वी तट
ओडिशापूर्वी तट
पश्चिमी बंगालपूर्वी तट
दमन दीवपूर्वी तट
लक्षद्वीपअरब सागर
पुडुचेरीपश्चिमी तट
अंडमान निकोबारबंगाल की खाड़ी

भारत की जलीय सीमा
(Maritime borders of India)

•   अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन की व्यवस्था के अनुसार किसी भी  देश की जलीय सीमा को 3 भागों में वर्गीकृत किया गया है

image 68

(i) प्रादेशिक जल सीमा (Territorial Sea) – आधार रेखा से समुद्र में 12 समुद्री मील तक प्रादेशिक समुद्री सीमा है। समुद्र में प्रादेशिक (12 नॉटिकल) तक भारत का संपूर्ण अधिकार है।

     आधार रेखा टेढे़-मेढे़ तट को मिलाने वाली काल्पनिक रेखा है जिसके मध्य के सागरीय जल को आन्तरिक जल कहते है।

(ii) संलग्न क्षेत्र (Contiguous Zone) – अविच्छिन्न मण्डल या संलग्न क्षेत्र की दूरी आधार रेखा से 24 समुद्री मील (1 समुद्री मील = 1.8 किमी.) तक है। इस क्षेत्र में भारत को साफ सफाई, सीमा शुल्क वसूली और वित्तीय अधिकार प्राप्त है।

(iii) अनन्य आर्थिक क्षेत्र (Exclusive Economic Zone) – यह आधार रेखा से 200 समुद्री मील की दूरी तक विस्तृत है। इसमें भारत को वैज्ञानिक अनुसंधान, नए द्वीपों की खोज व निर्माण तथा वैज्ञानिक संसाधनों के दोहन का  अधिकार प्राप्त है।

अंतर्राष्ट्रीय सीमा
(International Borders)

   भारत की अन्तर्राष्ट्रीय सीमाएँ अधिकांशतः प्राकृतिक हैं और वे ऐतिहासिक रूप से निर्धारित हैं।

   इस विशाल देश के तीन ओर अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और हिन्द महासागर है।

   भारत की मुख्य भूमि के अतिरिक्त बंगाल की खाड़ी में अंडमान तथा निकोबार द्वीप समूह और अरब सागर में लक्षद्वीप समूह स्थित है जो मुख्य भूमि से समुद्र द्वारा अलग है।

   भारत के सुदूर उत्तरपूर्वी त्रिसंधि है जहाँ पर भारत, चीन तथा म्यांमार की सीमाएँ आपस में मिलती है। सिक्किम केवल पश्चिम बंगाल को छूता है, जबकि मेघालय असम को छूता है। इस प्रकार सिक्किम और मेघालय एकएक राज्य को छूने वाले दो राज्य हैं।

   स्थलीय सीमा (Land Border)  भारत की स्थलीय सीमा की लम्बाई 15,200 किमी. है।

अन्तर्राष्ट्रीय सीमाएँ
(International Borders)

     1. बांग्लादेश → 4096.7 km
     2. चीन → 3488 km
     3. पाकिस्तान → 3323 km
     4. नेपाल  → 1751 km
     5. म्यांमार  → 1643 km
     6. भूटान  → 699 km
     7. अफगानिस्तान → 106 km

भारत-चीन सीमा
(India-China border)

•   वर्ष 1914 में सर हेनरी मैकमोहन द्वारा भारत और चीन के बीच एक अंतर्राष्ट्रीय सीमा का निर्धारण किया गया, जिसे मैकमोहन रेखा कहते हैं।

•   चीन के साथ भारत के एक केन्द्रशासित प्रदेश तथा चार राज्यों की सीमा लगती है।

•   केन्द्रशासित प्रदेश –लद्दाख

•   राज्य – हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश।

भारत-पाकिस्तान सीमा
(India-Pakistan border)

•   वर्ष 1947 में एक अंग्रेज अधिकारी सर साइरिल रेडक्लिफ द्वारा भारत-पाकिस्तान की सीमा का निर्धारण किया गया था। इस सीमा को रेडक्लिफ सीमा के नाम से जाना जाता है।

•   पाकिस्तान के साथ भारत के तीन राज्यों तथा दो केन्द्रशासित प्रदेश की सीमा लगती है।

•   तीन राज्य – पंजाब, राजस्थान, गुजरात

•   केन्द्रशासित प्रदेश – जम्मू-कश्मीर व लद्दाख सहित

भारत-अफगानिस्तान सीमा

(India-Afghanistan border)

   1796 ई. में भारत तथा अफगानिस्तान के बीच सर मोर्टिसुर डूरण्ड द्वारा एक अंतर्राष्ट्रीय सीमा बनाई गई, जिसे डूरण्ड रेखा कहा गया।

   वर्ष 1947 में पाकिस्तान के बनने के बाद डूरण्ड रेखा पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान के बीच एक अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखा है।

भारत-म्यांमार सीमा
(India-Myanmar border)

   अराकान योमा पर्वतमाला भारत तथा म्यांमार के बीच सीमा बनाती है।

   भारत की म्यांमार सीमा का निर्धारण मिसीपी, पटकोई, नागा तथा अराकानयोमा की पहाड़ियों से होता है।

   पूर्वोत्तर राज्य या सात बहनों के राज्य:
     अरुणाचल प्रदेश                      असम
     नागालैण्ड                               त्रिपुरा
     मणिपुर                                  मेघालय
     मिजोरम

नोट:- सिक्किम व मेघालय की सीमा केवल एक एक राज्य से लगती है। मेघालय की सीमा असम से तथा सिक्किम की सीमा पश्चिम बंगाल से लगती है।

त्रिपुरा ऐसा राज्य है जो तीन ओर से बांग्लादेश से घिरा हुआ है।

सिक्किम तीन तरफ से अंतर्राष्ट्रीय सीमा बनाता है।

भारत के राज्यपड़ोसी देशों की संख्यापड़ोसी देशों के नाम
सिक्किम3नेपाल, भूटान, चीन
अरुणाचल प्रदेश3चीन, भूटान,म्यांमार
नागालैण्ड1म्यांमार
मणिपुर1म्यांमार
मिज़ोरम2बांग्लादेश, म्यांमार
त्रिपुरा1बांग्लादेश
मेघालय1बांग्लादेश
असम2भूटान,बांग्लादेश
पश्चिम बंगाल3बांग्लादेश, नेपाल,भूटान
बिहार1नेपाल
उत्तर प्रदेश1नेपाल
उत्तराखण्ड2नेपाल, चीन
हिमाचल प्रदेश1चीन
जम्मू कश्मीर (केंद्रशासित प्रदेश)1पाकिस्तान
पंजाब1पाकिस्तान
राजस्थान1पाकिस्तान
गुजरात1पाकिस्तान
लद्दाख (केंद्रशासित प्रदेश)3चीन, पाकिस्तान, अफगानिस्तान (वाखन गलियारा)

देश की सीमा पर अवस्थित राज्य (States located on the borders of the country)

1.  बांग्लादेश – कुल सीमा = 4096.7 किमी.
     (A) पश्चिम बंगाल (सर्वाधिक)
     (B) असम (न्यूनतम)
     (C) मेघालय
     (D) त्रिपुरा
     (E) मिजोरम

image 69

2.  चीन – कुल सीमा = 3488 किमी.
     (A) लद्दाख, 2018 से (सर्वाधिक)
     (B) हिमाचल प्रदेश
     (C) उत्तराखण्ड
     (D) सिक्किम (न्यूनतम)
     (E) अरुणाचल प्रदेश

image 70

3.  पाकिस्तान – कुल सीमा = 3323 किमी.
     (A) जम्मू और कश्मीर व लद्दाख
     (B) पंजाब (न्यूनतम)
     (C) राजस्थान
     (D) गुजरात

image 71

4.  अफगानिस्तान – कुल सीमा = 106 किमी.

     (A) लद्दाख

5.  नेपाल – कुल सीमा = 1751 किमी.
     (A) उत्तर प्रदेश (सर्वाधिक)
     (B) प. बंगाल (न्यूनतम)
     (C) उत्तराखण्ड
     (D) बिहार
     (E) सिक्किम

image 72

6.  म्यांमार – कुल सीमा = 1643 किमी.
     (A) अरुणाचल प्रदेश (सर्वाधिक)
     (B) नागालैण्ड (न्यूनतम)
     (C) मणिपुर
     (D) मिजोरम

image 73

7.  भूटान – कुल सीमा = 699 किमी.
     (A) असम (सर्वाधिक)
     (B) सिक्किम (न्यूनतम)
     (C) अरुणाचल प्रदेश
     (D) पं. बंगाल

image 74

भारत की जलीय सीमा    
Maritime borders of India

image 75

   6° चैनल (ग्रेट चैनल)  सुमात्रा (इण्डोनेशिया) तथा ग्रेट निकोबार (अण्डमान निकोबार भारत) के मध्य निर्धारण।

   8° चैनल  मालदीव एवं मिनाकॉय (लक्षद्वीप) के मध्य सीमा निर्धारण।

   9° चैनल  मिनिकॉय एवं लक्षद्वीप के मध्य निर्धारण।

   10° चैनल  अण्डमान (लिटिल अण्डमान) एवं निकोबार (कार निकोबार) के मध्य सीमा निर्धारण।

   22° उत्तरी अक्षांश रेखा – यहाँ से दक्षिण की ओर भारत संकीर्ण होना शुरू हो जाता है।

   24° उत्तरी अक्षांश रेखा – यहाँ पर भारत व पाकिस्तान के मध्य सरक्रीक सीमा विवाद है।

   16° उत्तरी अक्षांश रेखा यह सह्याद्रि पर्वत माला को दो बराबर भागों में बाँटती है। हिमालय (2500) के बाद सह्याद्रि (1600) भारत की दूसरी सबसे लम्बी पर्वत शृंखला है।

   डक्कन पास  लघु अण्डमान एवं दक्षिण अण्डमान के मध्य सीमा निर्धारण।

   कोको चैनल  लैंडफॉल द्वीप (उत्तरी अण्डमान) एवं कोको द्वीप (म्यांमार) के मध्य।

जल संधि

पाक जल संधि – यह भारत व श्रीलंका के मध्य स्थित है।

   जो मन्नार की खाड़ी को बंगाल की खाड़ी से जोड़ती है।

   भारत के तमिलनाडु व श्रीलंका के मध्य आदम ब्रिज स्थित है। पम्बन द्वीप (रामेश्वरम्) इसी ब्रिज का हिस्सा है। इसे रामसेतु भी कहा जाता है।

   आदम ब्रिज की शुरुआत धनुष्कोडी नामक स्थान से होती है।

मन्नार की खाड़ी (तमिलनाडु)

   यह दक्षिण पूर्व तमिलनाडु व श्रीलंका के मध्य स्थित है।

सेतुसमुद्रम परियोजना

   यह मन्नार की खाड़ी को पाक की खाड़ी से जोड़ती है।

भारत के राज्य  केन्द्रशासित प्रदेश:-

States and Union Territories of India: –

वर्तमान भारत में भारत के 28 राज्य व 8 केन्द्रशासित प्रदेश है।

भारत के केन्द्रशासित प्रदेश

केन्द्रशासित प्रदेशराजधानी
जम्मू कश्मीरजम्मू (सर्दियों में), श्रीनगर (गर्मियों में)
लद्दाखलेह
अंडमान निकोबारपोर्ट ब्लेयर (दक्षिणी अंडमान)
दिल्लीनई दिल्ली
पुडुचेरीपुडुचेरी
दादर•नगर हवेली और दमन दीवसिलवास
चंडीगढ़चंडीगढ़
लक्षद्वीपकवरती

     भारत के राज्य व उनकी राजधानियाँ

राज्यराजधानी
हिमाचलशिमला (गर्मियों में), धर्मशाला (सर्दियों में)
पंजाबचंडीगढ़
हरियाणाचंडीगढ़
राजस्थानजयपुर
गुजरातगाँधीनगर
महाराष्ट्रमुम्बई
उत्तराखण्डदेहरादून (सर्दियों में), गैरसैंण (गर्मियों में)
उत्तर प्रदेशलखनऊ
मध्य प्रदेशभोपाल
तेलंगानाहैदराबाद
आंध्र प्रदेशअमरावती [तीन राजधानियाँ प्रस्तावितअमरावती(विधायी), कुर्नूल (न्यायिक) औरविशाखापत्तनम (कार्यकारी)]
कर्नाटकबेंगलुरु
गोवापणजी
केरलतिरुवनन्तपुरम
तमिलनाडुचेन्नई
छत्तीसगढ़रायपुर
ओडिशाभुवनेश्वर
झारखण्डरांची
बिहारपटना
पश्चिम बंगालकोलकाता
सिक्किमगंगटोक
असमदिसपुर
मेघालयशिलोंग
त्रिपुराअगरतला
मिजोरमआइजोल
मणिपुरइम्फाल
नागालैण्डकोहिमा
अरुणाचल प्रदेशईटानगर

•   क्षेत्रफल के आधार पर राजस्थान (3,42,239 वर्ग किमी.) भारत का सबसे बड़ा राज्य है तथा  गोवा (3702 वर्ग किमी.) सबसे छोटा राज्य है।

   जनसंख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश (19.95 करोड़) भारत का सबसे बड़ा राज्य तथा सिक्किम (6.11 लाख) सबसे छोटा राज्य है।

   क्षेत्रफल के आधार पर भारत का सबसे बड़ा केन्द्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर (1,63,040 वर्ग किमी.) है तथा सबसे छोटा केन्द्रशासित प्रदेश लक्षद्वीप (32 वर्ग किमी.) है।

   कच्छ (45,652 वर्ग किमी.) गुजरात भारत का सबसे बड़ा जिला तथा माहे (9 वर्ग किमी.) पुडुचेरी भारत का सबसे छोटा जिला है।

   भारत के केवल तीन केन्द्र शासित प्रदेश ऐसे है जिनमें विधानसभा है। ये है जम्मू कश्मीर, दिल्ली व पुडुचेरी।

   दादर नगर हवेली (1954), दमन व द्वीव (1961) एवं गोवा (1961) पूर्तगाल के अधीन क्षेत्र थे तथा चंद्रनगर (1946), पुडुचेरी (1954),कराईकल(1954), माहे(1954), यनम (1954) फ्रांस के अधीन क्षेत्र थे।

नोट:

उत्तर प्रदेश का सोनभद्र देश का एकमात्र ऐसा जिला है जो चार राज्यों (छतीसगढ, मध्य प्रदेश, बिहार, झारखण्ड) की सीमा को स्पर्श करता है।

अन्य लेख

सम्पूर्ण भूगोल

भारत के प्रमुख उद्योग एवं औद्योगिक प्रदेश (Industrial Regions of India)

भारत की जलवायु कैसी है? प्रकार, कारक एवं भारत में मानसून

भारत का भौतिक विभाजन | Physical divisions of India

भारत के भौतिक प्रदेश। Physical Region of India in Hindi

प्रमुख स्थलाकृतियाँ – पर्वत, पठार, मैदान एवं मरुस्थल Mountains, Plateaus, Plains

अक्षांश और देशांतर क्या हैं? Latitudes and Longitudes in Hindi

विश्व में कृषि के प्रकार, उदाहरण – Types of Agriculture in Hindi (PDF)

भारत में ऊर्जा संसाधन  Power Resources in India in Hindi [PDF]

भारत के प्रमुख खनिज संसाधन Major Minerals in India in Hindi

Bharat Ki Nadiya – भारत की प्रमुख नदियां

भारत का भूगोल एवं भारत की स्थिति एवं विस्तार के महत्वपूर्ण प्रश्न

भारत के कुल भौगोलिक कितने हैं?

भारत को 5 भौगोलिक प्रदेशो मे विभाजित किया गया है। थार मरुस्थलीय प्रदेश, दक्षिण का पठारी प्रदेश, पूर्वी पश्चिमी तटीय प्रदेश व द्वीप समूह।

भारत का सबसे बड़ा भौगोलिक भाग कौन सा है?

प्रायद्वीपीय पठार

नमस्ते- मेरा नाम अजीत पाल है। मैं लाइफस्टाइल एवं एस्ट्रोलॉजी जगत का शौकीन लेखक हूं। लाइफस्टाइल एवं एस्ट्रोलॉजी के क्षेत्र में काम करने का शौक रखते हुए, मैंने अपना करियर उन खबरों को कवर करने और लेखों के माध्यम से दुनिया भर के दर्शकों तक अपनी राय पहुंचाने के लिए समर्पित किया है। मैं अपने दर्शकों तक लाइफस्टाइल एवं एस्ट्रोलॉजी की दुनिया से नवीनतम समाचार और विशेष जानकारी लाने के लिए अथक प्रयास करता हूं। और अब से मैं AarambhTV.com में एक लेखक के रूप में कार्यरत हूं।

Leave a Comment