रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं ? What is Chemical Reaction in Hindi रासायनिक समीकरण

0
अनुक्रम दिखाएँ

रासायनिक अभिक्रिया एंव समीकरण What is Chemical Reaction in Hindi

Rasayanik abhikriya kise kahte hai :- इस लेख में हम रासायनिक अभिक्रिया एंव समीकरण के बारे में जानेंगे एंव इस टॉपिक से सम्बंधित विभिन सवाल जैसे रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं ? रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार (types of chemical reaction), रासायनिक अभिक्रिया क्या है ? (What is Chemical Reaction in Hindi) व रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर इत्यादि के बारे में दिया गया है।

रासायनिक अभिक्रिया क्या हैं ? (What is Chemical Reaction in Hindi)

भौतिक परिवर्तन – वह परिवर्तन जिसमें पदार्थ के भौतिक गुणों में परिवर्तन होता हैं परन्तु रासायनिक गुणों में कोई परिवर्तन नहीं होता हैं, उसे भौतिक परिवर्तन कहते हैं।

भौतिक परिवर्तन के गुण :-

  • पदार्थ के केवल भौतिक गुण जैसे – अवस्था, आकार आदि में परिवर्तन होता हैं।
  • परिवर्तन का कारण हटाने पर पुन: प्रारम्भिक पदार्थ प्राप्त होता हैं।
  • यह परिवर्तन अस्थायी होता हैं।
  • नये पदार्थ का निर्माण नहीं होता हैं।
  • उदाहरण – बल्ब जलना, जल में नमक का घोलना, मोम का पिघलना, जल का वाष्पीकरण, फलों से सलाद बनाना,मक्खन का बर्तन में पिघलना

रासायनिक परिवर्तन – वह परिवर्तन जिसमें पदार्थ के रासायनिक गुणों में परिवर्तन होता है
परन्तु भौतिक गुणों में कोई परिवर्तन नहीं होता हैं, उसे रासायनिक परिवर्तन कहते हैं।

रासायनिक परिवर्तन के गुण :-

  • रासायनिक परिवर्तन के परिणाम स्वरूप बनने वाला पदार्थ रासायनिक गुणों व संघटन में प्रारम्भिक पदार्थ से पूर्णतया भिन्न होते हैं।
  • सामान्यतया पुन: प्रारम्भिक पदार्थ प्राप्त नहीं कर सकते हैं।
  • यह परिवर्तन स्थायी होता हैं।
  • नये पदार्थ का निर्माण होता हैं।
  • उदाहरण – दूध से दही बनना, लोहे पर जंग लगना, आयरन तथा सल्फर से आयरन सल्फाइड, लकडी और कागज का जलना

रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं ? (Rasayanik abhikriya kise kahate hain)

यंहा पर रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं के बारे में विस्तार से बताया गया है।

रासायनिक अभिक्रिया की परिभाषा :-

  • ऐसे परिवर्तन जिसमें नए गुणों वाले पदार्थो का निर्माण होता हैं, उसे रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं अथवा रसायनों से सम्बन्धित अभिक्रिया को रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं।
  • ऐसे पदार्थ जो किसी रासायनिक अभिक्रिया में हिस्सा लेते हैं उन्हें अभिकारक कहते हैं।
  • पदार्थ जिनका निर्माण रासायनिक अभिक्रिया में होता हैं, उन्हें उत्पाद कहते हैं।

उदाहरण :-

  1. भोजन का पाचन
  2. श्वसन
  3. लोहे पर जंग लगना
  4. मैग्नीशियम फीते का जलना
  5. दुध से दही बनना
  6. भोजन को पकाने की प्रक्रिया

रासायनिक अभिक्रिया को पहचानने के तरीके :-

  • अवस्था में परिवर्तन
  • रंग में परिवर्तन
  • तापमान में परिवर्तन
  • गैस का उत्सर्जन

अवस्था में परिवर्तन :- रासायनिक अभिक्रिया में अवस्थाओं का परिवर्तन होता हैं। मैग्नीशियम फीते (रिबन) को ऑक्सीजन की उपस्थिति में जलाने पर मैग्नीशियम चूर्ण का निर्माण होता हैं ।

2Mg + O2 → 2MgO

रंग में परिवर्तन :- रासायनिक अभिक्रिया में रंग का परिवर्तन होता हैं। कॉपर सल्फेट का विलयन का रंग नीला होता हैं परन्तु लोहें की कीले डालने पर उसका रंग हरा हो जाता हैं अत: रासायनिक अभिक्रिया में रंग का परिवर्तन होता हैं ।
CuSO4 + Fe → FeSO4 + Cu

तापमान में परिवर्तन :- रासायनिक अभिक्रिया में ताप का परिवर्तन होता हैं। तनु सल्फ्युरिक अम्ल में दानेदार जिंक डालने पर पात्र गर्म हो जाता हैं। अत: अभिक्रिया में तापमान का परिवर्तन हुआ।
गैस का उत्सर्जन :- रासायनिक अभिक्रिया में गैस का उत्सर्जन होता हैं। तनु सल्फ्युरिक अम्ल में दानेदार जिंक डालने पर हाइड्रोजन गैस बाहर निकलती हैं।

रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार (types of chemical reaction)

यंहा पर रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार rasayanik abhikriya ke prakar के बारे में बताया गया है।

1. संयुग्मन अभिक्रिया(Chemical Reaction in Hindi) :-

संयुग्मन का अर्थ होता है – जुड़ना।
परिभाषा – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक पदार्थ आपस में संयोग करके एक ही उत्पाद बनाते हैं, उसे संयुग्मन अभिक्रिया कहते हैं। इसे योगात्मक या संयोजन अभिक्रिया भी कहा जाता है।

उदाहरण :-

  1. कोयले का दहन
    C(s) + O2 (g) → CO2(g)
  2. जल का निर्माण
    2H2(g) + O2(g) → 2H2O(\ellℓ)
  3. (बिना बुझा चूना) (बुझा हुआ चूना)
  4. मैग्नीशियम फीते का दहन

2. वियोजन अभिक्रिया (Chemical Reaction in Hindi) :-

वियोजन का अर्थ होता है – ‘टूटना’।

परिभाषा – ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें एक अभिकारक अपघटित होकर अर्थात् टूट कर दो या दो से अधिक उत्पाद बनाते हैं, उसे वियोजन अभिक्रिया कहते हैं। इसे अपघटन अभिक्रिया(Chemical Reaction in Hindi) भी कहा जाता है।

  1. ऊष्मीय वियोजन या तापीय वियोजन :- ऊष्मा द्वारा किया गया वियोजन ।
  2. वैद्युत वियोजन :- विद्युत धारा प्रवाहित करने पर वियोजन ।

विद्युत अपघटन में ऐनोड व कैथोड पर अलग-अलग उत्पाद प्राप्त होते हैं। साधारणतया ये यौगिक तआयनिक प्रवृत्ति के होते हैं।

  1. प्रकाशीय वियोजन :- सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में होने वाला वियोजन ।

3. ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया और ऊष्माशोषी रासायनिक अभिक्रिया

ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया :-

जिन अभिक्रियाओं में उत्पाद के निर्माण के साथ-साथ ऊष्मा का भी उत्सर्जन होता हैं, उसे ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया कहते हैं।
उदाहरण :-

  1. शाक-सब्जियों का विघटित होकर कंपोस्ट बनना ।
  2. श्वसन की प्रक्रिया ।
  3. प्राकृतिक गैस का दहन
  4. जल का निर्माण

ऊष्माशोषी अभिक्रिया :-

जिन अभिक्रियाओं में अभिकारकों को तोड़ने के लिए ऊष्मा, प्रकाश या विद्युत ऊर्जा की आवश्यकता होती हैं, उसे ऊष्माशोषी अभिक्रिया कहते हैं।

4. मंद एवं तीव्र अभिक्रिया (Rasayanik Abhikriya)

रासायनिक अभिक्रियाएँ((Rasayanik Abhikriya) वेग अर्थात् लगने वाले समय के आधार पर दो प्रकार की होती हैं- मंद तथा तीव्र

(a) तीव्र अभिक्रिया :-

ये अभिक्रियाएँ अभिकारकों को मिलाने पर अत्यन्त तेजी से सम्पन्न होती हैं। सामान्यतया ऐसी अभिक्रियाएँ आयनिक अभिक्रियाएँ होती हैं जैसे कि प्रबल अम्ल व प्रबल क्षार के मध्य अभिक्रिया 10-10 Sec में ही पूरी हो जाती हैं।
NaOH + HCl → NaCl + H2O (10-10 Sec)
AgNO3 + HCl → AgCl + HNO3
श्वेत अवक्षेप

सिल्वर नाइट्रेट तथा हाइड्रोक्लोरिक अम्ल को मिलाते ही सिल्वर क्लोराइड (AgCl) का श्वेत अवक्षेप आ जाता हैं। पौधों में प्रकाश संश्लेषण अभिक्रिया का अर्द्धआयु काल 10-12 sec होता हैं। [अभिकारकों की आधी मात्रा को उत्पाद में बदलने में लगा समय उस अभिक्रिया का अर्द्धआयुकाल कहलाता हैं]

(b) मंद अभिक्रिया –

कई अभिक्रियाएँ ऐसी होती हैं, जिनको पूरा होने में घंटे, दिन या साल तक लग जाते हैं, इन्हें मंद रासायनिक अभिक्रिया कहते है जैसे लोहे पर जंग लगने की क्रिया वर्षो तक चलती रहती है, जो मंद रासायनि अभिक्रिया (chemical reaction) का उदाहरण हैं।

5. उत्क्रमणीय – अनुत्क्रमणीय अभिक्रियाएँ (Rasayanik Abhikriya) :-

उत्क्रमणीय अभिक्रियाएँ –

ऐसी अभिक्रिया जिसमें अभिकारक अभिक्रिया करके उत्पाद बनाते हैं, उसी समय उन्हीं परिस्थितियों में उत्पाद भी अभिक्रिया करके अभिकारकों का निर्माण करते हैं, उत्क्रमणीय अभिक्रिया कहलाती हैं।
♦ ये अभिक्रिया दोनों दिशाओं में होती हैं।
♦ इन अभिक्रियाओं में कभी भी अभिकारकों की मात्रा शून्य नहीं होती हैं।

अनुत्क्रमणीय अभिक्रिया –

ऐसी अभिक्रिया जिसमें अभिकारक क्रिया करके उत्पाद बनाते हैं परन्तु उत्पाद पुन: अभिक्रिया करके अभिकारक नहीं बनाता है, उसे अनुत्कमणीय अभिक्रिया कहते हैं।
♦ ये केवल एक ही दिशा में होती हैं।
उदाहरण :-

6. विस्थापन अभिक्रिया (Rasayanik Abhikriya) :-

ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिनमें एक अभिकारक में उपस्थित परमाणु या परमाणु का समूह दूसरे अभिकारक के परमाणु या परमाणु समूह द्वारा विस्थापित हो जाता हैं, उसे विस्थापन अभिक्रिया (Rasayanik Abhikriya) कहते हैं ।
अथवा
अभिक्रियाओं में अधिक क्रियाशील तत्व कम क्रियाशील तत्व को उसके यौगिक से विस्थापित कर देता हैं।

कॉपर सल्फेट (CuSO4) के नीले रंग के विलयन में लोहे की कीले डालने पर उसका नीला रंग विलुप्त हो जाता है। लोहे की कील पर भूरे रंग की कॉपर की परत जम जाती है। CuSO4 के नीले विलयन का रंग हरा FeSO4 के निर्माण के कारण हो जाता है ।

7. द्विविस्थापन अभिक्रिया (Chemical Reaction in Hindi) :-

इस अभिक्रिया में उत्पादों का निर्माण, दो यौगिकों के बीच आयनों के आदान- प्रदान से होता हैं।

अम्ल और क्षार परस्पर क्रिया करके लवण व जल का निर्माण करता है उसे उदासीनीकरण अभिक्रिया कहते हैं। यह एक द्विविस्थापन अभिक्रिया है।

8. अवक्षेपण अभिक्रिया (Chemical Reaction in Hindi) :-

किसी द्विविस्थापन अभिक्रिया में सोडियम सल्फेट तथा बेरियम क्लोराइड की क्रिया कराने पर बेरियम सल्फेट (BaSO4) के साथ सफेद अविलेय अवक्षेप का निर्माण होता हैं, इसीलिए इस अभिक्रिया को अवक्षेपण अभिक्रिया भी कहते हैं।

9. उपचयन या ऑक्सीकरण :-

(i) जब किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की वृद्धि होती हैं।
(ii) जब किसी पदार्थ में हाइड्रोजन का ह्यस होता हैं।
(iii) जिसमें परमाणु, आयन या अणु इलेक्ट्रॉन त्यागता है।
(iv) विद्युत ऋणी तत्वों का संयोग।
(v) विद्युत धनी तत्वों का निष्कासन।
उदाहरण :-
(a) C + O2 → CO2
(b) 2Cu + O2 → 2CuO
(c) 2Mg + O2 → 2 MgO
(d) Na → Na + + e-

10. अपचयन(Chemical Reaction in Hindi):-

  1. जब किसी पदार्थ में ऑक्सीजन का ह्यस होता है।
  2. जब किसी पदार्थ में हाइड्रोजन की वृद्धि होती है।
  3. जिसमें परमाणु, आयन या अणु द्वारा इलेक्ट्रॉन ग्रहण किया जाता है।
  4. विद्युत ऋणी तत्वों का निष्कासन ।
  5. विद्युत धनी तत्वों का संयोग ।
    उदाहरण :-
    2MgO → 2 Mg + O2
    Cl + e- → Cl-

11. रेडॉक्स या अपोपचय अभिक्रिया :-

वह अभिक्रिया जिसमें ऑक्सीकरण तथा अपचयन अभिक्रियाएँ साथ-साथ चलती हैं अर्थात् ऑक्सीकरण अभिक्रिया में इलेक्ट्रॉन निष्कासित होते हैं तथा अपचयन अभिक्रिया में इलेक्ट्रॉन ग्रहण किए जाते हैं, इस अभिक्रिया को रेडॉक्स या अपोपचय अभिक्रिया कहते है।

ऑक्सीकारक:- वह पदार्थ जो दूसरे पदार्थो का ऑक्सीकरण एवं स्वयं का अपचयन करते हैं, उसे ऑक्सीकारक कहते हैं।
अपचायक :- वह पदार्थ जो दूसरे पदार्थो का अपचयन एवं स्वयं का ऑक्सीकरण करते हैं, उसे अपचायक कहते हैं।

उपरोक्त समीकरण में CuO का ऑक्सीकारक एवं H2 का अपचायक हुआ

रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर

Q.1 रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण क्या है?

उतर :- ऐसे परिवर्तन जिसमें नए गुणों वाले पदार्थो का निर्माण होता हैं, उसे रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं अथवा रसायनों से सम्बन्धित अभिक्रिया को रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं।

यह भी पढ़े :-

> (1) रासायनिक समीकरण किसे कहते है ?
> (2) रसायन विज्ञान किसे कहते है ? परिभाषा  
> (3) संयोजन अभिक्रिया किसे कहते हैं
> (4) वियोजन अभिक्रिया किसे कहते हैं
> (5) विस्थापन अभिक्रिया किसे कहते हैं
> (6) ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया किसे कहते हैं

निष्कर्ष

रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं ? What is Chemical Reaction in Hindi रासायनिक अभिक्रिया एंव रासायनिक समीकरण क्लास 10 TH का महत्वपूर्ण पाठ है जिसके नोट्स यहाँ पर दिए गए थे।

यदि आपको यह लेख रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते हैं ? What is Chemical Reaction in Hindi रासायनिक समीकरण पसंद आया तो अपने मित्रो के साथ शेयर करे।