रासायनिक समीकरण किसे कहते हैं ? संतुलित करना सीखे, Chemical Equation

Rasayanik Samikaran Kise Kahate Hain :- यहाँ इस आर्टिकल में रासायनिक समीकरण (Chemical Equation) किसे कहते हैं ? के बारे में बताया गया है।
एंव किस प्रकार से रासायनिक समीकरण को संतुलित करना होता है, समीकरण क्या है। इन सभी टॉपिक्स के बारे में यहाँ पर विस्तार से बताया गया है।

रासायनिक समीकरण किसे कहते है ?

किसी भी रासायनिक अभिक्रिया को रासायनिक समीकरण (rasayanik samikaran) के द्वारा दर्शाया जाता हैं। रासायनिक समीकरण में तत्वों के प्रतीकों का उपयोग किया जाता हैं। अभिकारक और उत्पादों के रासायनिक सूत्र को उनकी भौतिक अवस्था के साथ लिखते हैं।
रासायनिक समीकरण में आवश्यक परिस्थितियाँ जैसे-ताप, दाब, उत्प्रेरक आदि को तीर के निशान के ऊपर या नीचे दर्शाया जाता हैं।

रासायनिक समीकरण को लिखने का तरीका –

अभिकारक – ऐसे पदार्थ जो किसी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेते हैं, उन्हें अभिकारक कहते हैं। यह तीर के निशान के बायीं और लिखा जाता हैं।
उत्पाद – ऐसे पदार्थ जिनका निर्माण रासायनिक अभिक्रिया में होता हैं, उन्हें उत्पाद कहते हैं। यह तीर के निशान के दायीं और लिखा जाता हैं।
उत्प्रेरक – वह पदार्थ जो रासायनिक अभिक्रिया में भाग नहीं लेता हैं परन्तु अभिक्रिया के वेग की दर को परिवर्तित कर देता हैं, उसे उत्प्रेरक कहते हैं। यह तीर के निशान के ऊपर लिखा जाता हैं।

क्रियाकारक/ अभिकारक -------> उत्पाद / क्रियाफल 

रासायनिक समीकरण को लिखने के चरण :-

यंहा पर रासायनिक समीकरण को कैसे लिखते है यहाँ पर बताया गया है।

  1. रासायनिक अभिक्रिया को लिखने के लिए समीकरण में सबसे पहले क्रियाकारक को लिखकर तीर का निशान लगाया जाता हैं, उसके बाद उत्पाद लिखा जाता हैं।
  2. क्रियाकारक और उत्पाद संख्या में एक से अधिक होने पर उनके बीच धन का चिन्ह (+) लगाया जाता हैं।
    उदाहरण :- C+O2 → CO2
  3. 3.द्रव्यमान संरक्षण के नियमानुसार द्रव्यमान का न तो निर्माण होता ळैं और न ही विनाश। अत: तीर के चिन्ह के दोनों और अभिकारकों और उत्पादों के परमाणुओं की संख्या समान होती हैं।
  4. दोनों और के अणुओं की संख्या को बढा घटा कर समीकरण को संतुलित किया जाता हैं, जिसे अनुमान विधि या हिट एण्ड ट्रायल विधि कहते हैं।
  5. रासायनिक समीकरण को संतुलित करने के लिए सर्वप्रथम अणुओं में से ऑक्सीजन (O) व हाइड्रोजन (H) को छोड़कर दूसरे परमाणुओं को संतुलित करते हैं।
  6. समीकरण को संतुलित करने के बाद अभिकारकों व उत्पादों की भौतिक अवस्था को बताने हेतु उनके साथ ही कोष्ठक में ठोस के लिए (s), द्रव के लिए (
    ℓ\ell
    ℓ) तथा गैस के लिए (g) लिखते हैं।
  7. अभिकारक व उत्पाद जन जलीय विलयन के रूप में होते हैं तो उसे (aq) से लिखते हैं।
  8. अभिक्रिया उत्क्रमणीय होने अर्थात् दोनों दिशाओं में होने पर तीर का निशान इस प्रकार प्रयुक्त करते हैं।
  9. अभिक्रिया सम्पन्न होने के बाद आवश्यक ताप व दाब को निशान के ऊपर लिखते हैं।
    उदाहरण :-
  10. ऊष्माक्षेपी व ऊष्माशोषी अभिक्रिया के लिए उत्पाद के साथ क्रमश: धन चिन्ह (+) व ऋण चिन्ह (-) लगाकर ऊष्मा की मात्रा को लिखा जाता हैं। ऊष्मा को चिन्ह
    △\triangle
    △ से भी लिखा जाता हैं।
  11. अभिक्रिया में प्रयुक्त उत्प्रेरक को तीर के निशान के ऊपर लिखा जाता हैं।

रासायनिक समीकरण के प्रकार :-

रासायनिक समीकरण सामान्यता दो प्रकार के होते है।
(1) संतुलित रासायनिक समीकरण
(2) असंतुलित रासायनिक समीकरण / कंकाली समीकरण

(1) संतुलित रासायनिक समीकरण :-

जब किसी रासायनिक अभिक्रिया में अभिकारक और उत्पाद के परमाणुओं की संख्या तथा उनका परमाणु भार एक समान हो,
उसे संतुलित समीकरण कहते हैं।

उदाहरण :-
(1) C + O2 → CO2
परमाणु भार – 12 + 2 x 16 , 12 + 2 x 16
12 + 32, 12 + 32
44 44

44                 44

परमाणुअभिकारक में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणु की संख्या
C11
O22

असंतुलित समीकरण या कंकाली  रासायनिक समीकरण :-

जब किसी रासायनिक अभिक्रिया में अभिकारक और उत्पाद के परमाणुओं की संख्या तथा उनका परमाणु भार एक समान नहीं होता हैं, उसे असंतुलित समीकरण या कंकाली रासायनिक समीकरण कहते हैं।

परमाणुअभिकारक में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणु की संख्या
C11
O12

हिट एण्ड ट्रायल विधि (अनुमान विधि) :- रासायनिक समीकरणों को संतुलित करने की विधि को हिट एण्ड ट्रायल विधि कहते हैं । 

रासायनिक समीकरण का महत्व (विशेषताएँ ) :-

  • क्रियाकारक और उत्पाद में सम्पूर्ण जानकारी जैसे अणुओं की संख्या, द्रव्यमान आदि मिलती हैं।
  • पदार्थो की भौतिक अवस्था की जानकारी प्राप्त होती हैं।
  • रासायनिक अभिक्रिया के लिए आवश्यक परिस्थितियाँ जैसे – ताप, दाब, उत्प्रेरक आदि के बारे में जानकारी मिलती हैं।
  • समीकरण से ऊष्माक्षेपी व ऊष्माशोषी अभिक्रिया की जानकारी प्राप्त होती हैं।
  • समीकरण की उत्क्रमणीयता की जानकारी प्राप्त होती हैं।

रासायनिक समीकरणों को संतुलित करना

हिट एण्ड ट्रायल विधि :-रासायनिक समीकरणों को संतुलित करने की विधि को हिट एण्ड ट्रायल विधि कहते हैं ।
इस विधि के द्वारा असंतुलित समीकरण को संतुलित समीकरण में परिवर्तित किया जाता हैं ।
असंतुलित रासायनिक समीकरण –
H2  +  O2  →  H2O

चरण 1 :- रासायनिक समीकरण लिखकर, प्रत्येक सूत्र के चारों ओर बॉक्स बनाना ।
H2+ O2  →    H2O

चरण 2 :- समीकरण में उपस्थित विभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या को नोट करना –

तत्वअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
H22
O21

 चरण 3 :- सबसे अधिक परमाणु वाले तत्व को अभिकारक या उत्पाद की तरफ उचित गुणांक लगाकर संतुलित करना ।
ऑक्सीजन को संतुलित करना

H2+ O2  →   H2O

तत्वअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
O21 X 2
O22

चरण 4:-  चरण -3 की भांति हाइड्रोजन को संतुलित करना

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
H2 X 24
H44

चरण 5 :-  2 H2 + O2  → 2H2O  यह संतुलित समीकरण हैं ।

असंतुलित समीकरण :-
 Na  +  HCl  →  NaCl  +   H2

चरण 1 :- रासायनिक समीकरण लिखकर, प्रत्येक सूत्र के चारों और बॉक्स बनाना
 Na  +  HCl  →  NaCl  +   H2

चरण 2 :- समीकरण में उपस्थित विभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या नोट करना –

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
Na11
H12
Cl11

चरण 3 :- सबसे अधिक परमाणु वाले तत्व को अभिकारक या उत्पाद की तरफ उचित गुणांक लगाकर संतुलित करना
हाइड्रोजन को संतुलित करना

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
H1 x 22
H22

 Na  +  2HCl  →  NaCl  +   H2

चरण 4 :- चरण -3 की भांति
 क्लोरीन को संतुलित करना

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
Cl21 x 2
Cl22

 Na  +  2HCl  → 2 NaCl  +   H2
चरण 5 :- सोडियम को संतुलित करना

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
Na1 x 22
Na22

 2Na  +  2HCl  →  2NaCl  +   H2

चरण 6 :- अत: संतुलित समीकरण
2 Na + 2 HCl → 2 NaCl + H2

→असंतुलित समीकरण :-
Fe   + H2O → Fe3O4 + H2

चरण 1 :- रासायनिक समीकरण लिखकर, प्रत्येक सूत्र के चारों ओर बॉक्स बनाना ।
Fe   + H2O → Fe3O4 + H2

चरण 2 :- समीकरण में उपस्थित विभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या नोट करना ।

तत्वअभिकारकों में परमाणु की संख्या (LHS)उत्पाद में परमाणुओं की संख्या (RHS)
Fe13
H22
O14

चरण 3:- सबसे अधिक परमाणु वाले तत्व को अभिकारक या उत्पाद की दिशा में उचित गुणांक लगाकर संतुलित करना ।

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
O1 x 44
O44

Fe   + 4H2O → Fe3O4 + H2

चरण 4 :- तत्वों के परमाणुओं को चरण 3 की भांति संतुलित करना ।
हाइड्रोजन को संतुलित करना –

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
H82 x 4
H88

Fe   + 4H2O → Fe3O4 +4H2

चरण 5 :- आयरन को संतुलित करना –

परमाणुअभिकारकों में परमाणु की संख्याउत्पाद में परमाणुओं की संख्या
Fe1 x 33
Fe33

3Fe   + 4H2O → Fe3O4 + 4H2

चरण 6 :-  3 Fe +  4 H2O → Fe3O4   +   4 H2  यह संतुलित समीकरण हैं ।

ठोस – (S)
द्रव – (ℓ)\mathbf{(\ell)}(ℓ)
गैसीय अवस्था –(g)
जलीय विलयन – (aq)
कुछ आवश्यक परिस्थितियाँ जैसे – ताप, दाब या उत्प्रेरक आदि को भी तीर के निशान के ऊपर या नीचे लिखा जाता हैं ।

महत्वपूर्ण प्रश्न

Q.1. रासायनिक समीकरण कितने प्रकार के होते हैं?

उतर:- यह दो प्रकार के होते है।
(1) संतुलित रासायनिक समीकरण
(2) असंतुलित रासायनिक समीकरण / कंकाली समीकरण

Q.2. संतुलित रासायनिक समीकरण क्या है?

उतर:- जब किसी रासायनिक अभिक्रिया में अभिकारक और उत्पाद के परमाणुओं की संख्या तथा उनका परमाणु भार एक समान हो,
उसे संतुलित समीकरण कहते हैं।

Q.3. रासायनिक सूत्र कैसे बनाये?

उतर:- क्रियाकारक/ अभिकारक ——-> उत्पाद / क्रियाफल

Q.4. रासायनिक समीकरण किसे कहते हैं ?

उतर:- किसी भी रासायनिक अभिक्रिया को रासायनिक समीकरण के द्वारा दर्शाया जाता हैं।

-: यह भी पढ़े :-

रासायनिक समीकरण किसे कहते हैं ? सम्बंधित प्रश्न

> (1) रसायन विज्ञान क्या है ?
> (2) विज्ञान की परिभाषा क्या है ?
> (3) भौतिक विज्ञान के जनक कौन है ?

निष्कर्ष

यदि आपको यह लेख रासायनिक समीकरण(RASAYANIK SAMIKARAN) किसे कहते हैं ? संतुलित करना सीखे, Chemical Equation पसंद आया तो अपने मित्रो के साथ शेयर करे