त्रिभुज का परिमाप : सूत्र (Formula) क्या होता हैं? tribhuj ka parimap ka sutra

नमस्कार छात्रों,
आज हम इस लेख में गणित विषय के बहुत ही इम्पोर्टेन्ट टॉपिक त्रिभुज का परिमाप(perimeter of triangle) के बारे में पढ़ेंगे।
यहां इस आर्टिकल में आप सीखेंगे की त्रिभुज का परिमाप क्या होता हैं? त्रिभुज का परिमाप का सूत्र क्या होता है और कैसे गणना करते है।
पिछले लेख में आपने जाना होगा की त्रिभुज किसे कहते हैं? तथा त्रिभुज के प्रकार एंव परिभाषा के बारे में बताया गया था।
आइये चलिए जानते है tribhuj ka parimap ka sutra (Formula) क्या होता है?

किसी भी विषय के बारे में पढ़ने से पहले उस टॉपिक से सम्बंधित सम्पूर्ण बेसिक जानकारी होनी बहुत ज्यादा आवश्यक हैं।

त्रिभुज की परिभाषा:-

तीन भुजाओं से घिरी हुई बंद आकृति को त्रिभुज कहते हैं।

“तीन रेखाखण्डों से घिरी हुई समतलीय आकृति त्रिभुज कहलाती है। त्रिभुज को ∆ से निरूपित किया जाता है। एक त्रिभुज की तीन भुजाएँ, तीन कोण और तीन शीर्ष होते हैं।”

त्रिभुज के प्रकार

(A) भुजाओं के आधार पर

  1. विषमबाहु त्रिभुज
  2. समद्विबाहु त्रिभुज
  3. समबाहु त्रिभुज

(B) कोणों के आधार पर

  1. समकोण त्रिभुज
  2. न्यूनकोण त्रिभुज
  3. अधिककोण त्रिभुज

त्रिभुज का परिमाप

परिमाप शब्द का अर्थ := किसी भी आकृति या वस्तु के परी के माप अर्थात चारों ओर का माप

त्रिभुज का परिमाप क्या होता हैं?

त्रिभुज की तीनो भुजाओ की लम्बाइयों का योग त्रिभुज का परिमाप कहलाता है।

रामप्रसाद RpscGuide में कंटेंट राइटर हैं। रामप्रसाद को पढ़ाई का जुनून है। उन्हें लेखन, करियर, शिक्षा और एक अच्छा कीबोर्ड पसंद है। यदि आपके पास कहानी का कोई विचार है, तो उसे [email protected] पर एक मेल भेजें।

Leave a Comment