विद्युत धारा किसे कहते हैं? परिभाषा, धारा का मात्रक क्या, electric current in hindi

0

इस लेख में हम विद्युत धारा (electric current in hindi) के बारे में पढ़ेंगे। यहां पर विद्युत धारा किसे कहते हैं?,
विद्युत धारा की परिभाषा क्या है , विद्युत धारा का एस आई मात्रक क्या है इत्यादि के बारे में बताया गया है।
Vidyut Dhara का सूत्र kya hai, विद्युत धारा कक्षा 10 th एवं कक्षा 12 th का महत्वपूर्ण अध्ययाय है।
तो चलिए जानते है विद्युत धारा Kise Kahate Hain

विद्युत धारा किसे कहते हैं?

किसी भी विद्युत परिपथ में किसी बिन्दु से इकाई समय में गुजरने वाले आवेश की मात्रा को विद्युत धारा कहते हैं।


विद्युत धारा की परिभाषा :-

किसी चालक में एक स्थान से दूसरे स्थान तक आवेश का प्रवाह होता है, तो आवेश के प्रवाह दर को विद्युत धारा कहते है।

विद्युत धारा का सूत्र :-

माना किसी बिन्दु से Q आवेश t समय में गुजरता हैं तो विद्युत परिपथ के किसी बिन्दु से t समय में n इलेक्ट्रॉन गुजरते है तो t समय में ne आवेश उस बिन्दु से गुजरेगा अत: Vidyut Dhara Ka Sutra निम्न लिखित है

विद्युत धारा (I) = आवेश(Q) / समय (t)

Vidyut Dhara को ” I “के चिन्ह द्वारा प्रदर्शित करते है।


विद्युत धारा का मात्रक क्या है? (SI Unit of Electric Current in Hindi)

S.I. पद्धति में विद्युत धारा का मात्रक (vidyut dhara ka si matrak) ‘एम्पियर’ होता है।

विद्युत धारा का एस आई मात्रक :-

एम्पियर = कुलाम/ सेकण्ड

अन्य मात्रक

1 मिली ऐम्पीयर = 10-3 ऐम्पीयर
1 माइक्रो ऐम्पीयर = 10-6 ऐम्पीयर
1 नैनो ऐम्पीयर = 10-9 ऐम्पीयर

एक ऐम्पीयर की परिभाषा –

यदि Q = 1 कूलॉम व t = 1 सैकण्ड

विद्युत धारा किसे कहते हैं? विद्युत धारा का एस आई मात्रक क्या, vidyut dhara kise kahate hain,  dhara ka si matrak, prabhav परिभाषा, paribhasha

“ यदि किसी विद्युत परिपथ में किसी बिन्दु से 1 सैकण्ड में 1 कूलॉम आवेश प्रवाहित होता हैं, उसे एक ऐम्पीयर कहते हैं।

विद्युत धारा के प्रकार (Types of Electric Current in Hindi)

सामान्यता विद्युत धारा के 2 प्रकार होते हैं।
(1) प्रत्यावर्ती धारा (A.C)
(2) दिष्टवर्ती धारा (D.C.)

(1) प्रत्यावर्ती धारा (A.C) :- यदि किसी परिपथ में धारा की दिशा लगातार बदलती रहती है तो उसे प्रत्यावर्ती धारा (alternaling current) कहते है।

(2) दिष्टवर्ती धारा (D.C.) :- यदि किसी परिपथ में धारा एक ही दिशा में बहती है तो उसे दिष्ट धारा (Direct current) कहते है

  • यदि गतिशील आवेश धनात्मक है, तो धारा की दिशा आवेश की गति की दिशा में होगी।
  • यदि आवेश ऋणात्मक है तो धारा की दिशा आवेश प्रवाह के विपरीत दिशा में होगी।

विद्युत धारा के प्रभाव –

विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव –

Vidyut Dhara विद्युत धारा चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न करती है, इस घटना को विद्युत का चुम्बकीय प्रभाव कहते है।

विद्युत चुम्बक – नर्म लोहे के क्रोड वाली परिनालिका विद्युत चुम्बक कहलाती हैं।
इनका उपयोग फेक्ट्रियों में अस्पतालों में विद्युत घण्टी, तार-संचार, ट्रांसफार्मर,
डायनेमो, टेलीफोन, आदि के बनाने में होता है। नर्म लोहा अस्थायी चुम्बक बनाता है।

विद्युत धारा का रासायनिक प्रभाव :-

किसी लवण के जलीय विलयन को जिसमें से विद्युत धारा गुजरती रहती है विद्युत अपघट्य  (electrolyte) कहते हैं।

जब किसी लवण के जलीय विलयन में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो उसका विद्युत अपघटन होता है
अर्थात उस विलयन का धनात्मक व ऋणात्मक आयनों में अपघटन (deomposition) हो जाता है।
इस घटना को विद्युत धारा का रासायनिक प्रभाव कहा जाता है।

विद्युत धारा का ऊष्मीय – प्रभाव –

चालक के ताप के बढने की घटना को ही विद्युत धारा का ऊष्मीय प्रभाव कहते है।
विद्युत धारा का ऊष्मीय प्रभाव घरेलू उपकरणों जैसे – विद्युत हीटर, विद्युत प्रेस, बल्ब, ट्युबलाइट आदि में देखने को मिलता है।


Vidyut Dhara से सम्बंधित परिभाषाएँ

1. विभवान्तर –

विद्युत धारा किसे कहते हैं? विद्युत धारा का एस आई मात्रक क्या, vidyut dhara kise kahate hain,  dhara ka si matrak, prabhav परिभाषा, paribhasha

एकांक आवेश द्वारा चालक के एक सिरे से दूसरे सिरे तक प्रवाहित होने में किये गये कार्य को ही दोनों सिरों के बीच विभवान्तर कहते है।
अर्थात यदि कूलाम के आवेश को किसी चालक के एक बिन्दु से दूसरे बिन्दु
तक प्रवाहित होने में W जूल का कार्य करना पड़ता है तो दोनों बिन्दुओं के बीच विभवान्तर उत्पन्न होता है।
विभवान्तर का मात्रक ‘वोल्ट’ होता है।

2. विधुत वाहक बल –

ऐसा स्त्रोत जो विद्युत प्रवाह हेतु आवश्यक ऊर्जा की पूर्ति कर सके विद्युत वाहक बल का स्त्रोत कहलाता है।

विद्युत सेल के अलावा डायनेमो, तापयुग्म, प्रकाश वैद्युत सेल, आदि विद्युत वाहक के स्त्रोत है।

3. अमीटर –

विद्युत धारा को सीधे एम्पियर में मापने के लिए अमीटर नामक यन्त्र का प्रयोग किया जाता है।
एक आदर्श अमीटर का प्रतिरोध शून्य होता है। अमीटर को परिपथ में सदैव श्रेणीकम में लगाया जाता है।
इसकी सहायता से धारा का मान पीछे ऐम्पियर में ज्ञात किया जाता है।

4. वोल्ट मीटर :-

वोल्ट मीटर का प्रयोग परिपथ के किन्ही दो बिन्दुओं के बीच विभवान्तर मापने में किया जाता है।
इसे परिपथ में सदैव सामान्तर क्रम में लगाये जाते है।
एक आदर्श वोल्ट मीटर का प्रतिरोध अनन्त होना चाहिये ताकि वे परिपथ में बहने वाली धारा में कोई परिवर्तन न कर सके।

5. धारामापी यंत्र :-

धारा को मापने के लिए धारामापी यंत्र (अमीटर) का उपयोग होता हैं। यह श्रेणीक्रम में लगता हैं तथा इसका आदर्श मान ‘शून्य’ होता हैं।

यह भी पढ़े :-
 ✔️⚫ ओम का नियम क्या है? परिभाषा, सूत्र, सीमा ohm’s law in hindi (om ka niyam)

✔️⚫ विद्युत क्या है ? Electricity In Hindi |Meaning
✔️⚫ विद्युत आवेश किसे कहते हैं?
✔️⚫ विद्युत विभव क्या है ?
✔️⚫ विद्युत विभवान्तर क्या है ?

उदाहरण Examples

उदाहरण – 2 किसी विद्युत परिपथ में 5 मिनट में 600 कूलॉम आवेश प्रवाहित होता हैं तो विद्युत धारा का मान ज्ञात कीजिए।
उत्तर- आवेश(Q) = 600 कूलॉम
समय(t) = 5 मिनट = 5 x 60 = 300 सैकण्ड
धारा(I) = आवेश (Q)
समय(t)

उदाहरण-3 किसी विद्युत परिपथ में 5 मिनट में 0.2 ऐम्पीयर धारा प्रवाहित होता हैं तो आवेशों का परिमाण ज्ञात कीजिए?
उत्तर – समय(t) = 5 मिनट = 5 x 60 = 300 सैकण्ड
धारा(I) = 0.2 ऐम्पीयर
आवेश = ??
धारा = आवेश
समय
आवेश(Q) = धारा(I) x समय(t)
आवेश(Q) = 0.2 x 300
आवेश(Q) = 60 कूलॉम

उदाहरण –4 किसी विद्युत बल्ब के तन्तु में से 0.5 A विद्युत धारा 10 मिनट तक प्रवाहित होती हैं। विद्युत परिपथ से प्रवाहित विद्युत आवेश का परिमाण ज्ञात कीजिए।
उत्तर – धारा (I) = 0.5 ऐम्पीयर
समय (t) = 10 मिनट = 10 x 60 = 600 सैकण्ड
आवेश(Q) = धारा(I) x समय(t)
आवेश(Q) = 0.5 x 600
आवेश(Q) = 300 कूलॉम


विद्युत धारा किसे कहते हैं Faq

विद्युत धारा किसे कहते हैं ?

एक स्थान से दूसरे स्थान तक आवेश का प्रवाह होता है, तो आवेश के प्रवाह दर को विद्युत धारा कहते है।

विद्युत धारा से क्या तात्पर्य है इसका मात्रक बताइए?

एक स्थान से दूसरे स्थान तक आवेश का प्रवाह होता है, तो आवेश के प्रवाह दर को विद्युत धारा कहते है।

धारा का सूत्र क्या है?

विद्युत धारा का सूत्र (I) = आवेश(Q) / समय (t)

धारा किसे कहते हैं कितने प्रकार के होते हैं?

किसी भी विद्युत परिपथ में किसी बिन्दु से इकाई समय में गुजरने वाले आवेश की मात्रा को विद्युत धारा कहते हैं।

विद्युत धारा की विमा क्या होती है?

ऐम्पीयर

विद्युत धारा की SI इकाई क्या है *?

ऐम्पीयर