पदार्थ किसे कहते हैं ? पदार्थ की परिभाषा, अवस्था, what is matter in chemistry

इस लेख में पदार्थ (matter) के बारे में बताया गया हैं। पदार्थ किसे कहते हैं ? पदार्थ क्या हैं। पदार्थ की परिभाषा क्या हैं ? , पदार्थ की अवस्था कितनी हैं ? वर्गीकरण , उदाहरण , what is matter in chemistry in hindi आदि के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया हैं।

पदार्थ किसे कहते हैं ? (पदार्थ क्या हैं – Padarth Kise Kahate Hain)

वातावरण में प्रत्येक वस्तु पदार्थ से बनी हैं या पदार्थ हैं। आप अपने चारो तरफ नज़र गुमा के देखे जो जो वस्तुए दिखाई देती हैं वो जिस सामग्री से बनी हुई हैं उसे ही पदार्थ कहा गया हैं।

पदार्थ की परिभाषा (Padarth ki Paribhasha) :-

"कोई भी वस्तु जो स्थान घेरती हो, जिसका द्रव्यमान हो ओर जिसको अपनी 5 इन्द्रियों से महसूस कर सकते हैं तो उसे पदार्थ कहते हैं।"
जैसे :- पुस्तक, पेन, बॉल, कुर्सी

पदार्थ का वर्गीकरण :-

यहाँ पदार्थ का वर्गीकरण (Classification of Matter) विभिन प्रस्थितियो के आधार पर किया गया है।

(A) भौतिक (B) रासायनिक

(A) भौतिक :- भौतिक आधार पर तीन भागो में बांटा गया हैं।
(1) ठोस (2) द्रव (3) गैस

(B) रासायनिक :- रासायनिक आधार पर पदार्थ को 2 भागो में बांटा गया हैं।
(1) शुद्ध पदार्थ (2) मिश्रण (मिश्रण सम्बंधित विस्तार से पढ़ने के लिए क्लिक करे )

पदार्थ के गुण :-

यहाँ पर पदार्थ के कणो के गुण कुछ इस प्रकार है :-

  • पदार्थ के कण बहुत छोटे-छोटे होते हैं।
    जिनकी कल्पना भी नहीं की जा सकती हैं।
  • पदार्थ के कणो के बिच रिक्त स्थान होता हैं।
    यह रिक्त स्थान क्रमश ठोस < द्रव < गैस
  • पदार्थ के कण निरंतर गतिशील होते हैं।
  • पदार्थ के कणो के बिच आकर्षण बल होता हैं।
    जिसकी वजह से पदार्थ के कण एक दूसरे को आकर्षित करते हैं।

पदार्थ की अवस्था (Padarth ki Avastha) :-

पदार्थ को अवस्था के आधार पर 3 भागो में बांटा गया हैं।
(1) ठोस (2) द्रव (3) गैस

(1) ठोस अवस्था (Solid State) :-

ठोस किसे कहते हैं ? :-

ऐसे पदार्थ जिसका आयतन व आकार दोनों ही निश्चित होते हैं। उसे ठोस कहते है।
जैसे :- शकर, लोहा, सोना

ठोस पदार्थ के गुण :-

ठोस अवस्था के गुण निम्न हैं।

  • इसका आयतन निश्चित होता हैं।
  • ठोस पदार्थ का आकार निश्चित होता हैं।
  • इसकी स्षप्ट सीमाँए व संपीड्य गुण न के बराबर होता है।
  • बाहरी बल लगाने पर ठोस पदार्थ टूट सकते है परन्तु इनका आकर नहीं बदलता है।
  • इसके कणो के बिच रिक्त स्थान बहुत काम होता है।
  • इसके कणो के बिच आकर्षण बल अधिक हैं। जिसकी वजह से कण पास पास होते हैं।

द्रव अवस्था (Drv Avstha) :-

द्रव पदार्थ किसे कहते हैं ? :-

ऐसा पदार्थ जिसका आयतन तो निश्चित होता हैं परन्तु आकार अनिश्चित होता हैं। द्रव को जिस भी पात्र में डाला जाता हैं तो यह उसका आकार ग्रहण कर लेता हैं।
उदाहरण :- जल, दूध, तेल, पारा

द्रव पदार्थ के गुण :-

  • द्रव पदार्थ का आयतन निश्चित होता हैं परन्तु आकार अनिशिचत होता हैं।
  • इसके कणो के बिच आकर्षण बल ठोस के अपेक्षा कम होता हैं। जिसकी वजह कणो के बिच रिक्त स्थान अधिक होता हैं।
  • यह तरलता का गुण दर्शाते हैं।

गैस अवस्था :-

गैसीय पदार्थ किसे कहते हैं ? :-

ऐसा पदार्थ जिसका न तो आयतन निश्चित होता हैं और न ही आकार। उसे गैस पदार्थ कहते हैं।
जैसे:- ऑक्सीजन , हाइड्रोजन

गैसीय पदार्थ के गुण :-

  • इनका आकार व आयतन दोनों अनिश्चित होता हैं।
  • इनमे सम्पीडिय गुण होता हैं।
  • इसके कानो के बिच रिक्त स्थान बहुत अधिक होता हैं।
  • कणो के बिच आकर्षण बल बहुत ही काम होता हैं।

पदार्थ का द्रव्यमान :-

पदार्थ का द्रव्यमान की परिभाषा :-

किसी पदार्थ का द्रव्यमान उसमे उपस्थित द्रव्य की मात्रा हैं। द्रव्यमान स्थिर होता हैं।

  • द्रव्यमान का SI मात्रक किलोग्राम (KG) होता हैं।

पदार्थ का भार :-

पदार्थ के भार से तातपर्य है उसपे लगने वाले गुरुत्व बल से हैं। यह एक अस्थिर राशि है।

आयतन :-

पदार्थ के आयतन से तातपर्य हैं उसके द्वारा घेरा गया स्थान (जगह) है।

  • आयतन का SI मात्रक M3 हैं।

घनत्व :-

किसी पदार्थ का घनत्व प्रति इकाई आयतन का द्रव्यमान होता हैं।

घनत्व = आयतन / द्रव्यमान

  • घनत्व का SI मात्रक Kg m-3 होता हैं।

पदार्थ किसे कहते हैं से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

Q.1. पदार्थ किसे कहते हैं ?

उतर :- कोई भी वस्तु जो स्थान घेरती हो, जिसका द्रव्यमान हो ओर जिसको अपनी 5 इन्द्रियों से महसूस कर सकते हैं तो उसे पदार्थ कहते हैं।

Q.2. पदार्थ कैसे बनता हैं ?

उतर :- विभिन तत्व और योगिक मिलकर पदार्थ का निर्माण करते हैं।

Q.3. पदार्थ के कितने अवस्था हैं ?

उतर :- पदार्थ की तीन अवस्था हैं।